मोदीनगर: रामनवमी के मौके पर सूरजमल अखाड़े द्वारा किया गया शास्त्र पूजन का आयोजन,चालक परविंदर आर्य ने दिया समाज को एकजुट होने का संदेश।

0
51

मोदीनगर: रोरी ग्राम में आज रामनवमी के उपलक्ष्य में हर साल की भांति इस बार भी सूरजमल अखाड़े द्वारा ,संचालक श्री परविंदर आर्य ने शस्त्र पूजन का आयोजन रखा। आपको बता दे कि परविंदर जी इससे पहले भारतीय थल सेना में जाट रेजिमेंट में थे।

 

इनकी पोस्टिंग कश्मीर में कारगिल, बड़गांव, उरी में रही उस समय कश्मीर में हो रहे कश्मीरी पंडितों हो रहे अत्याचारो से छुब्ध होकर इन्होंने प्रण लिया कि देश की सुरक्षा तो सेनिक कर रहे हैं परन्तु देश के अंदर हो रहे अत्याचारों से रक्षा कोन करेगा।उससे प्रेरित होकर डासना में स्थित काली मंदिर में निवास करने वाले इनके गुरुदेव श्री यति नारसिंघनन्द सरस्वती जी के सानिध्य में आकर इन्होंने समाज को सनातनी बनने के लिए प्रेरित किया।

यह इस अखाड़े में युवाओ को शस्त्रों और शास्त्रों का ज्ञान कराते है जैसा की हमारे पौराणिक समय मे गुरुकुलों में हुआ करता था।इनके द्वारा समाज मे हो रही कुरूतियों को दूर करने की शिक्षा दी जाती है। इस आयोजन में सभी ग्रामवासी व अन्य मोदीनगर के लोगो ने बढ़चढ़ के हिस्सा लिया परविंदर जी ने कहा कि हिन्दू धर्म सबसे प्राचीन धर्म है।सभी हिदुओ को अपनी संस्कृति और हिंदुत्व पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिन्दुओ में ज्ञान और जान का आभाव है जिस दिन युवाओ को इसको पहचान लिया तो भारत पहले ही कि भांति भारतवर्ष को दुनिया सोने की चिड़िया कहेगी। इस शस्त्र पूजन कार्यक्रम मे रामकुमार मित्तल, विनय नहरा, राणा रामनारायण आर्य, लोकेन्द्र आर्य, डा. अरूण त्यागी, चौधरण अंजली आर्या, अजय कलकल, जितेंद्र दोसा आदि उपस्थित रहें।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of