दिल्ली गैंगवार : हिस्ट्रीशीटर काले पर बरसाईं 40 गोलियां

0
141
UP News
Share the news

बाहरी दिल्ली में रविवार सुबह एक हिस्ट्रीशीटर को बदमाशों ने गोलियों से भून डाला। वीरेंद्र मान उर्फ काले बसपा के टिकट पर पार्षद का चुनाव लड़ चुका था। उस पर हमलावरों ने 40 राउंड गोलियां दागी, जिसमें से करीब 22 राउंड गोली उसे लगी।

सुबह करीब साढ़े 10 बजे नरेला औद्योगिक क्षेत्र में बदमाशों ने उसपर अंधाधुंध गोलियां दाग दीं। हमलावर पहले से ही घात लगाए बैठे थे। जैसे ही काले की कार लामपुर रोड पर पहुंची, कार में सवार बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी। कार सवार बदमाश वारदात को अंजाम देने के बाद नाहरपुर गांव की तरफ फरार हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने काले को कार से बाहर निकालकर पास के राजा हरिश्चंद्र हॉस्पीटल ले गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। काले की कार को ड्राइवर दिनेश चला रहा था। गोलीबारी की घटना में वह बच गया। पुलिस अब उससे पूछताछ कर रही है। साथ ही यह भी पता लगाया जा रहा है कि वह कैसे बच गया? पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज को कब्जे में लेकर जांच कर रही है। हमलावरों की तलाश में पुलिस की छह टीमें लगाई गई हैं।

वीरेंद्र उर्फ काले पर 13 मामले दर्ज थे
मारे गए 47 वर्षीय वीरेंद्र मान उर्फ काले पर नरेला थाने में 13 मामले दर्ज थे। इनमें हत्या, हत्या के प्रयास और जबरन वसूली के मामले शामिल हैं। हत्या की वारदात को आपसी रंजिश और गैंगवार के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर मनीष अग्रवाल का कहना है कि जांच के बाद ही सही कारणों का खुलासा हो पाएगा। पश्चिमी दिल्ली के खेड़ा गांव के रहने वाले काले के परिवार में पत्नी, 12 साल का बेटा, भाई और मां हैं। उसके पिता की मौत हो चुकी है।


Share the news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here