एसआरएम द्वारा बरते जा रहे असहयोगपूर्ण रवैये से पत्रकारों में रोष

0
213
www.upnewz.in
UP NEWS
Share the news

मोदीनगर:-  पत्रकारों के हित एवं सम्मान से जुड़े मुद्दों को लेकर पत्रकारों की संस्था यूपी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन मोदीनगर इकाई द्वारा कादराबाद स्थित संतोष हॉस्टल के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में तहसील क्षेत्र की अग्रणीय तकनीकी शैक्षिक संस्था एसआरएम शिक्षण संस्थान द्वारा मोदीनगर क्षेत्र के पत्रकारों के साथ बरते जा रहे दोहरे मापदंड एवं असहयोगपूर्ण व्यवहार किए जाने के विरोध में चर्चा की गई।

बैठक की अध्यक्षता करते ह़ुए संस्था के संरक्षक वरिष्ठ पत्रकार सच्चिदानंद पंत ने एसआरएम शिक्षण संस्थान के प्रबंधन द्वारा बरते जा रहे उपेक्षापूर्ण रवैये पर क्षोभ प्रकट करते हुए कहा कि एसआरएम शिक्षण संस्थान का प्रबंधन तंत्र पत्रकारों के साथ जिस प्रकार का दोहरा रवैया अपना रहा है वह निन्दनीय हैं।

उन्होंने कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है, किन्तु एसआरएम शिक्षण संस्थान का यह रवैया पत्रकारों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने का कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि एसआरएम शिक्षण संस्थान के प्रबंधन द्वारा बरता जा रहा यह रवैया पत्रकार कदापी बर्दाश्त नहीं करेगा। मंच संचालन करते हुए संस्था के जिलाध्यक्ष राकेश शर्मा ने कहा कि एसआरएम शिक्षण संस्थान पत्रकारों का सम्मान भूल चुका है।

उन्होंने कहा कि बैठक का उद्देश्य पत्रकारों के हित एवं सम्मान को कायम कराने के लिए ही किया गया है। इसलिए पत्रकारों के हित एवं सम्मान की आवाज को उठाने के लिए शीघ्र ही सात सदस्यीय समिति का गठन किया जाये। संस्था के तहसील अध्यक्ष योगेश गौड़ ने कहा कि यूपी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन उपजा पत्रकारों के सम्मान के लिए आवाज उठाने का कार्य लगातार कर रही है।

एसआरएम द्वारा पत्रकारों के साथ बरते जा रहे असहयोगपूर्ण व्यवहार पर यह संस्था पत्रकारों के साथ खड़ी है तथा पत्रकारों को उनका यथोचित सम्मान दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। बैठक में सभी पत्रकारों ने संयुक्त रूप से निर्णय लिया कि इस सबंध में संस्था द्वारा एक पत्र लिखकर संस्थान के प्रबंधन को उपरोक्त समस्याओं से अवगत कराकर संस्थान में पत्रकारों के साथ किए जा रहे असहयोग पूर्ण व्यवहार को बदलकर पूर्व की भांति ही सहयोगात्मक व्यवहार किये जाने के साथ ही क्षेत्र के सभी मासिक, साप्ताहिक एवं दैनिक समाचार पत्रों के साथ समानता पूर्ण व्यवहार किये जाने का प्रस्ताव भेजा जायेगा। भेजे गये प्रस्ताव पर यदि आगामी एक सप्ताह के भीतर प्रबंधन द्वारा लिखित सहमति नहीं दी जाती हैं तो सभी पत्रकार एसआरएम संस्थान का पूर्ण रूप से बहिष्कार करने के लिए बाध्य होंगे।

 बैठक में वरिष्ठ पत्रकार सुरेश शर्मा, संस्था के तहसील उपाध्यक्ष अनवर खान, संतोष अग्रवाल, सतीश अग्रवाल, विनय अग्रवाल, चांदवीर सिंह, राजेश योगीराज, संजीव जिंदल, मौहम्मद हसन खान, विनायक पुलह , हरेन्द्र शर्मा, नीरज गुप्ता, संजीव कुमार चिकारा, नगेन्द्र कश्यप, रमेश निर्वाल, शिवदेव, वन्दना जोशी, आस मौहम्मद, कृष्णाभ शर्मा, मोहन लाल गुप्ता आदि पत्रकार गणों ने भी अपने विचार प्रकट किये।          “,

 


Share the news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here