गाज़ियाबाद : डॉक्टर बीपी त्यागी की तीन साल की मेहनत रंग लाई

0
467
www.upnewz.in
Share the news

गाज़ियाबाद:–ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर बीपी त्यागी ने शोध करके एक ऐसा इंजेक्शन बनाया है,जो की मरीजो की  बाधिरता जैसी को जड़ से खत्म कर देगा,आपको बातए की टेक्नोलॉजी जिंदगी को आसान बनाने में बहुत बेहतर तरीके से काम कर रही है। लेकिन यही टेक्नोलॉजी हमें नुकसान भी पहुंचाती है। जी हां  अगर हम टेक्नोलॉजी की बात करें तो सुनने की क्षमता को लेकर कान को काफी हद तक नुकसान पहुंचाने वाली टेक्नोलॉजी हमें बहुत ही खतरनाक साबित होती है। जिसके कारण लोगों में बाधिरता की बीमारियां लगातार बढ़ती जा रही है। आज के जमाने में जिस तरह से हेडफोन ब्लूटूथ और हेड स्पीकर डीजे साउंड स्पीकर का चलन चल चुका है। वहीं कानों के पर्दो पर भी असर देखने को मिलता जा रहा है। लगभग अब भारत में 10 मिलियन लोग ऐसे हैं जो इस समस्या से जूझ रहे हैं।

गाजियाबाद के डॉक्टर बीपी त्यागी ने एक ऐसे इंजेक्शन का निर्माण किया है। जो की मरीजो के ही ब्लड से बनाया जाता है। और उसे मरीज के कमजोर नस पर लगाया जाता है। जिसके बाद कमजोर नसों से सुनने जैसी क्षमता तेज होने लगती है।

 

इस इंजेक्शन को बनाने में डॉक्टर बीपी त्यागी को लगभग 3 वर्ष का समय लगा। लेकिन 3 वर्ष के बाद उनकी मेहनत रंग लाई और अब वह इस इंजेक्शन से गरीबों का इलाज कर सकेंगे,साथ ही डॉक्टर बीपी त्यागी ने बताया कि कितना समय और कितना खर्चा कर बनाया इंजेक्शन,आप भी सुनिए ।

 

अब हम आपको बातए की, डॉक्टर बीपी त्यागी गाजियाबाद और भारत देश के जाने-माने डॉक्टर है।  इन्होने दो बार लिम्का बुक में नाम दर्ज करा चुके हैं। इसके अलावा ब्रिटेन के लंदन में इन्हें महात्मा गांधी अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया है।”


Share the news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here