मेरठ पुलिस ने फर्जी कैबिनेट सेक्रेटरी को किया गिरफ्तार

0
264
Share the news

मेरठ पुलिस ने फर्जी कैबिनेट सेक्रेटरी को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने कुछ लोगों को पेट्रोल पंप दिलाने और पूरे प्रदेश में प्रतिबंध के बावजूद शस्त्र लाइसेंस बनवाने का वादा कर ये रकम ली थी। आरोपी के खिलाफ रेलवे रोड थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी के घर से पुलिस ने कुछ दस्तावेज भी बरामद किए हैं।

पुलिस के अनुसार कंकरखेड़ा के डाबका गोल्डन एवेन्यू कॉलोनी निवासी ब्रजकुमार सिंह खुद को पीएमओ कार्यालय में तैनात कैबिनेट सेक्रेटरी बताता था। ब्रजकुमार सिंह लोगों से वीके मलिक नाम से मिलता था और बताता था कि उसकी तैनाती पीएमओ में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई बड़े नेताओं से संपर्क हैं। आरोपी ये भी दावा करता था कि वो प्रधानमंत्री की सलाहकार टीम का सदस्य है। इसी का हवाला देकर ब्रजकुमार सिंह ने कुछ लोगों को अपने प्रभाव में लिया। टीपीनगर के कालिंदी कॉलोनी निवासी सुशील साहनी और आनंदपुरी रेलवे रोड गौरव कपूर से ब्रजकुमार सिंह ने इसी तरह से दोस्ती बढ़ाई। सुशील साहनी का आबूलेन पर साहनी ऑटो नाम से कार सर्विस का काम है। सुशील के घर तक ब्रजकुमार सिंह का आना जाना शुरू हो गया और पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर आठ लाख रुपये हड़प लिए। दूसरी ओर गौरव कपूर को एमएलसी बनवाने के नाम पर ब्रजकुमार सिंह ने 16 लाख 90 हजार रुपये की रकम ली थी। हालांकि काम नहीं हुआ। अब गौरव ने रकम वापस मांगी तो ब्रजकुमार सिंह ने एसएसपी से शिकायत कर दी कि गौरव, बदन सिंह बद्दो का साथी है और रंगदारी मांग रहा है।

क्राइम ब्रांच ने गौरव को उठाकर पूछताछ की तो मामला लेनदेन का निकला। इसके बाद खुलासा हुआ कि ब्रजकुमार सिंह पीएमओ कार्यालय में न तो मुख्य सलाहाकार है और न ही कैबिनेट सेक्रेटरी है। खुलासा हुआ कि वह फर्जी आईएएस अधिकारी बनकर लोगों से ठगी कर रहा है।

एसएसपी नितिन तिवारी ने ब्रजकुमार सिंह को गिरफ्तार करा कर छानबीन कराई। इसके बाद पूरा मामला खुल गया। गौरव की मां प्रवीण कौर निवासी आनंदपुरी रेलवे रोड की ओर से ब्रजकुमार सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी और धमकी देने समेत कई धाराओं में रेलवे रोड थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।


Share the news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here